छत्तीसगढ़: 10 साल से मओवादियों को हथियार पहुंचाते थे भाजपा नेता, हुआ गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ पुलिस का कहना है कि दंतेवाड़ा के भाजपा नेता ने 10 साल तक माओवादियों के साथ काम कियादंतेवाड़ा के भाजपा जिला उपाध्यक्ष जगत पुजारी को माओवादियों के लिए सामान पहुंचाने और आपूर्ति की व्यवस्था करने के आरोप में शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया है.

बस्तर पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए भाजपा नेता का नक्सलियों से दस साल पुराना संबंध था. पुलिस के अनुसार आनेवाले दिनों में नक्सलियों के मददगार कुछ और भी बड़े ठेकेदार और स्थानीय चेहरे पकड़ में आ सकते हैं.

दंतेवाड़ा के भाजपा जिला उपाध्यक्ष जगत पुजारी और उसके साथी रमेश उसेंडी को शनिवार को गिरफ्तार किया गया था, उन्होंने एक कुख्यात नक्सली और जन मिलिशिया (जनता मिलिशिया) के नेता अजय आलमी के साथ अपने संबंधों के बारे में पुलिस अधीक्षक को बताया. सुपरीटेंडेंट ऑफ पुलिस (एसपी) अभिषेक पल्लव से जब गिरफ्तारी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया.

पुजारी के 32 वर्षीय सहयोगी रमेश उसेण्डी को दंतेवाड़ा पुलिस ने मुखबिरों द्वारा दी गई सूचना के आधार पर 13 जून को पहले गिरफ्तार किया था.उसेण्डी की गिरफ्तारी बारसूर-चित्रकूट मार्ग पर हुई जब वह एक दिन पहले नए खरीदे गए ट्रैक्टर को नक्सली नेता अजय अलामी को सुपुर्द करने जा रहा था.

दंतेवाड़ा के एसपी पल्लव ने बताया, टउसेण्डी के इंट्रोगेशन में मिली सूचना के आधार पर पुजारी के शामिल होने को पुख्ता किया गया और फिर उसे गिरफ्तार किया गया.उसने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया है और यह आरोप भी मान लिया है कि उसके पिछले दस वर्षों से नक्सलियों से रिश्ते रहे हैं. ‘

पुलिस पिछले 8-10 महीनों से ट्रैक कर रही थी

पल्ल्व ने कहा कि पुजारी पिछले एक दशक से भी एधिक समय से नक्सलियों के लिए सामान सप्लाई कर रहा था, उन्हें कई तरह का सामान भी पहुंचाता था, ‘जैसे कपड़े, जूते, खाना और एक समय में तो उसने असल्लाह भी पहुंचाया है.’

पल्लव बताते हैं कि पुजारी उनकी राडार पर काफी समय से था.

हमलोगों के पास पिछले 8-10 महीने से खुफिया रिपोर्ट इस मामले की थी लेकिन कार्रवाई नहीं कर रहे थे, क्योंकि हमें उनके खिलाफ एक ठोस सबूत का इंतजार था. चइसके अलावा, चूंकि वह एक स्थानीय राजनीतिक व्यक्ति है, इसलिए उसे लगातार ट्रैक किया जाना जरूरी था नहीं तो फिर वे पुलिस पर आरोप लगाना शुरू कर देते हैं. जब हमारे पास सभी साक्ष्य आ गए उसके बाद हमने उन्हें गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस का कहना है कि नक्सलियों के कई और मददगारों के नेटवर्क का निरंतर पता चल रहा है जिनके खिलाफ आनेवाले दिनों में कार्यवाई होगी.
दंतेवाड़ा एसपी अभिषेक पल्लव के अनुसार बस्तर के माड़ डिवीजन में सक्रिय माओवादियों के लिये समान सप्लाई करने में शामिल जगत पुजारी और रमेश उसेण्डी के गिरफ्तारी के बाद कई अहम सूचनाएं प्राप्त हुई हैं.

दिप्रिंट से बात करते हुए पल्लव ने बताया, ‘कैडर के बड़े माओवादी नेताओं द्वारा इंद्रावती एरिया कमेटी में सक्रिय माओवादी और जनमिलिशिया कमाण्डर इन चीफ अजय अलामी को बड़ी रकम देकर समान मंगवाने की मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त हुई थी.

पल्लव ने कहा, ‘इसी दौरान 13 जून को दोपहर लगभग 2.15 बजे बारसूर-चित्रकूट मार्ग पर बारसूर की ओर से आ रहे एक लाल रंग के ट्रैक्टर चालक रमेश उसेंडी से पूछताछ करने पर उसने बताया कि माओवादी अजय अलामी के निर्देशों पर पुजारी ने 12 जून को ट्रेक्टर खरीदने में उसकी मदद की थी. इसके लिए अलामी ने उसेण्डी को 4 लाख रुपए भी दिए थे.

‘बताया था कि हांदावाड़ा गांव में उसे बारसूर निवासी जगत पुजारी लेने आयेगा और ट्रेक्टर खरीदने मे पूरी मदद करेगा. इसके बाद दोनों ने 12 जून को गीदम में महिन्द्रा के शो रूम से लाल रंग का एक ट्रेक्टर खरीदा और उसेण्डी उसे 13 जून को अलामी को सुपुर्द करने जा रहा था.’ ट्रेक्टर रमेश उसेण्डी के नाम से खरीदा गया था जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है.

Input: The Print

Leave a Comment