राजस्थान में चल रही सियासी उठापटक के बीच भारतीय ट्राइबल पार्टी/बीटीपी (Bharatiya Tribal Party/BTP) ने गहलोत सरकार को अपना समर्थन दे दिया है। बीटीपी ने शनिवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात कर उन्हें अपने समर्थन का पत्र सौंप दिया। बीटीपी ने कहा कि हम चाहते हैं कि राजस्थान की जनता द्वारा चुनी हुई सरकार चलनी चाहिए।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी इसकी पुष्टि की। सीएम गहलोत ने ट्वीट कर जानकारी दी, “भारतीय ट्राइबल पार्टी (BTP) के दोनों विधायकों ने उनकी प्रदेश कार्यकारिणी के पदाधिकारियों के साथ मुलाक़ात कर और अपने मांगपत्र के साथ चर्चा कर सरकार को समर्थन देने की घोषणा की है।”

अगर फ्लोर टेस्ट होता है, तो हम कांग्रेस का समर्थन करेंगे: BTP विधायक

पहले भारतीय ट्राइबल पार्टी (BTP) ने कांग्रेस के दोनों खेमो (सचिन पायलट- अशोक गहलोत) की लड़ाई में न्यूट्रल रहने की बात कही थी। वहीं आज कांग्रेस के साथ साझा कॉन्फ्रेंस कर बीटीपी के दोनों विधायकों ने मुख्यमंत्री के नेतृत्व में विश्वास जताया है। शनिवार को हुई कॉन्फ्रेंस में बीटीपी के दोनों विधायकों ने यह कहते हुए समर्थन देने की बात कही है कि सरकार से हमने कुछ मांग की थी, जिससे मानने के लिए अब सरकार तैयार है, लिहाजा हम मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस के समर्थन के लिए तैयार है। अगर फ्लोर टेस्ट होता है, तो हम कांग्रेस का समर्थन करेंगे।

चुनी हुई सरकार को गिराने का प्रयास गलत: बीटीपी

बीटीपी के दोनों विधायक रामप्रसाद और राजकुमार रौत दोनों ने कॉन्फ्रेंस में कहा कि चुनी हुई सरकार को गिराने का प्रयास गलत है, लिहाजा हम सरकार के साथ हैं। बता दें, बीटीपी की ओर से व्हिप जारी करके इस मामले में किसी भी गुट और पार्टी का समर्थन ना करने के आदेश अपने विधायकों को दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here