देश में कोरोनावायरस मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इसी बीच भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने गुजरात से अपनी ही पार्टी के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के खिलाफ बयान दे दिया है। उन्होंने कहा कि गुजरात में कोरोना से मरने वालों की संख्या तभी स्थिर की जा सकती है, जब आनंदीबेन पटेन सीएम के तौर पर लौट आएं।

दूसरे राज्यो से ज्यादा गुजरात में मृत्यु दर: देश में कोरोना के मामले शनिवार तक 60 हजार के करीब पहुंच गए। संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र और गुजरात हैं। गुजरात में देश के करीब 12.5 फीसदी (7400) मामले हैं और मृत्यु दर 6 फीसदी के करीब है। राज्य में अब तक 450 से ज्यादा लोग जान गंवा चुके हैं। यह दूसरे राज्यों के मुकाबले काफी ज्यादा है। गौरतलब है कि दिल्ली और तमिलनाडु में 6 हजार से ज्यादा केस हैं, लेकिन दोनों ही राज्यों में मृतकों की संख्या अभी 70 के पार नहीं पहुंच पाई है।

विजय रुपाणी को सीएम पद से हटाए जाने की थी अटकलें: गौरतलब है कि गुजरात में बढ़ती मौतों और संक्रमण के मामलों के चलते ऐसी अटकलें थीं कि विजय रुपाणी को राज्य के मुख्यमंत्री पद से हटाया जा सकता है। ऐसा कहा जा रहा था कि उनकी जगह केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया को राज्य की कमान दी जा सकती है। हालांकि, मंडाविया ने खुद ही इन आशंकाओं पर ट्वीट कर विराम लगा दिया था। उन्होंने कहा था कि पूरी दुनिया कोरोना वायरस से जूझ रही है। गुजरात के साथ भी वैसा ही है। राज्य सीएम रूपाणी के कुशल नेतृत्व में है. इस समय, सीएम बदलने आदि के बारे में अफवाहें फैलाना लोगों के हित में नहीं है। मैं लोगों से आग्रह करता हूं कि वे इस तरह की अफवाहों में न पड़ें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here