बीजेपी नेता बोले कोरोना वायरस से बचने के लिए गोमूत्र पिए, गधे क्या समझे गाय की अहमियत

वीडियो में दिलीप घोष कह रहे हैं कि “यदि मैं आपसे गाय की बात करूं तो बहुत से लोग इससे असहज हो जाएंगे। गधे कभी भी एक गाय की अहमियत नहीं समझेंगे। यह भारत है, भगवान श्रीकृष्ण की धरती, यहां हम गाय की पूजा करते हैं।

पश्चिम बंगाल के भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने अपने एक बयान में कहा है कि गोमूत्र पीने से शरीर की वायरस से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। दरअसल दिलीप घोष का एक वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया गया है, जिसमें दिलीप घोष एक बैठक के दौरान लोगों को घरेलू चीजों की अहमियत बता रहे हैं। वह लोगों से यह भी कह रहे हैं कि गोमूत्र पीने से लोग स्वस्थ रहते हैं।

वीडियो में दिलीप घोष कह रहे हैं कि “यदि मैं आपसे गाय की बात करूं तो बहुत से लोग इससे असहज हो जाएंगे। गधे कभी भी एक गाय की अहमियत नहीं समझेंगे। यह भारत है, भगवान श्रीकृष्ण की धरती, यहां हम गाय की पूजा करते हैं। हमें स्वस्थ रहने के लिए गोमूत्र पीना चाहिए। जो शराब पीते हैं वो कैसे एक गाय की अहमियत को समझेंगे।”

बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं है कि पश्चिम बंगाल प्रदेश भाजपा अध्यक्ष द्वारा ऐसा बयान दिया गया है, इससे पहले भी वह ऐसी बयानबाजी कर चुके हैं। बीते साल नवंबर में भी दिलीप घोष ने अपने एक बयान में कहा था कि गाय के दूध में सोना होता है। घोष के बयान के बाद सोशल मीडिया पर उन्हें जमकर ट्रोल किया गया था। उससे पहले भी घोष ने कहा था कि गोमूत्र पीने में कोई परेशानी नहीं है। घोष ने कहा था कि वह खुद गोमूत्र का सेवन करते हैं।

दिलीप घोष राज्य की ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ भी खासे हमलावर रहे हैं। हाल ही में अपने एक बयान में घोष ने कहा था कि इस समय कोरोना से लड़ने का समय है लेकिन वह (सीएम ममता बनर्जी) राज्यपाल और केन्द्रीय पुलिस से लड़ रही हैं। उनके गुंडे हमारे पार्टी कार्यकर्ताओं की हत्या कर रहे हैं।

घोष ने कहा कि ममता राज में विधायक भी सुरक्षित नहीं हैं। बता दें कि हाल ही में राज्य में हेमताबाद इलाके से भाजपा विधायक देबेंद्र नाथ रे का रस्सी से झूलता शव बरामद हुआ था। पुलिस जहां इसे आत्महत्या बता रही है, वहीं भाजपा इसे हत्या करार दे रही है। भाजपा इस हत्या के पीछे टीएमसी नेताओं को जिम्मेदार ठहरा रही है।

Leave a Comment