बिहार: भोज खाकर लौट रही नाबालिग को अगवा कर चार युवकों ने किया बलात्कार

बिहार के मधुबनी शहर से सटे रहिका थाना क्षेत्र के एक गांव की आठवीं की छात्रा के साथ चार युवकों ने गैंगरेप किया। फिर उसकी तस्वीर वायरल कर दिया। तस्वीर वायरल होते ही मामले ने तूल पकड़ लिया। इससे गुस्साए गांव के लोगों ने खुद ही दो आरोपितों को पकड़ कर पुलिस को सौंप दिया। घटना 24 जून की बतायी जाती है। इसे लेकर 30 जून को पीड़िता के बयान पर एफआईआर दर्ज की गयी।

मुंडन संस्कार का भोज खाकर लौट रही थी लड़की

24 जून की रात 8:00 बजे नाबालिक मुंडन संस्कार का भोज खाकर लौट रही थी अचानक बिजली कट गई और गली में पहले से मौजूद चार लड़के उसे उठाकर गाछी में ले गए और दुष्कर्म किया. दुष्कर्मी ने नाबालिक के साथ दुष्कर्म करने के समय मोबाइल से कुछ फोटो वह वीडियो बना लिया और घटना के संबंध में किसी से कहने पर जान से मारने की धमकी देकर मामला को दबा दिया डर से नाबालिग ने यह बात किसी को नहीं बताई. 30 जून को फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया ग्रामीणों ने उसके माता-पिता को जानकारी दी और आरोपी के विरुद्ध कार्रवाई की बात की तो लड़की खुलकर सभी बातें बताई. चार के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गयी ग्रामीणों ने फोटो से पहचान कर दो लड़के ओम प्रकाश महतो सुजीत महतो को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया.

खबर हिंदी समाचार पत्र दैनिक भास्कर में भी प्रकाशित है.

वीडियो वायरल होने के डर से पीड़िता ने नहीं कराया था FIR

घटना के बाद से पीड़ित का पूरा परिवार डरा हुआ था। उन्हें डर था कि पुलिस में जाने पर वीडियो वायरल कर दिया जाएगा। इसी बीच आरोपितों ने 30 जून को पूरी घटना की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल कर दी। इसके बाद स्थानीय लोग गुस्से में आ गये। वायरल तस्वीर के आधार पर ग्रामीणों ने चार में दो आरोपितों सुजीत कुमार व ओम प्रकाश को पकड़ कर रहिका पुलिस के हवाले कर दिया।

https://twitter.com/kiranyadavspeak/status/1278320847405510666?s=19

जब पीड़ा हुई तो मां ने दिलाई दर्द की दवाई.

दिनों बाद जब बच्चे को पीड़ा हुई तो उसने घटना की जानकारी दी. जिसके बाद मेडिकल स्टोर से दर्द से राहत की दवा खिलाई जिसके बाद यह बात किसी को नहीं बताई. जब ग्रामीणों के सामने यह फोटो आया तो ग्रामीणों ने फोटो के आधार पर दो लड़का को पकड़कर पुलिस के हवाले किया, ग्रामीण ऐसे दुष्कर्मी को जल्द से जल्द कठोर सजा दिलाने की मांग पुलिस से कर रहे हैं.

घटना को लेकर पीड़िता के बयान पर सुजीत कुमार, रंजन कुमार, ओम प्रकाश व मंतोष कुमार के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गयी है। चारों की उम्र 20 से 21 वर्ष के बीच बतायी जाती है।

इधर, कड़ी सुरक्षा के बीच बुधवार को पुलिस मेडिकल जांच के लिए पीड़िता को लेकर अस्पताल पहुंची। गिरफ्तार आरोपितों को न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया।

घटना में शामिल दो आरोपितों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। दो अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। शीघ्र ही दोनों पकड़े जाएंगे। – कामिनी बाला, सदर एसडीपीओ, मधुबनी।

Leave a Comment