बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में सभी राजनीतिक पार्टियों का एक दूसरे पर आरोपों का दौर जारी है रविवार को बक्सर की जनसभा में लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सात निश्चय कार्यक्रम को भ्रष्टाचार का अड्डा बताया है।

उन्होंने कहा है कि एल जे पी की सरकार बनी तो इस भ्रष्टाचार की जांच कराकर दोषियों को जेल भेजा जाएगा चाहे भ्रष्टाचार किसी अधिकारी ने किया हो या खुद मुख्यमंत्री ने कोई दोषी नहीं बचेगा ।

चिराग पासवान से जब पूछा गया तो चिराग पासवान ने कहा मैंने कहा कि अगर मुख्यमंत्री दोषी हैं तो उन्हें जांच के बाद जेल भेज दिया जाएगा यह कैसे संभव हो सकता है कि घोटालों और भ्रष्टाचार के बारे में CM नहीं जानते हो, वह भी शामिल है यह जांच में स्पष्ट होगा।

चिराग पासवान ने अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोला कितना बड़ा घोटाला हो रहा है बिहार के हर एक आदमी को पता है इस भ्रष्टाचारी पर सीएम चुप कैसे हैं अगर भ्रष्टाचार हो रहा है और उनके मंत्रियों को पता है और सीएम को नहीं पता यानी सीएम खुद इसमें लिप्त हैं खुद सत्ता रहकर भ्रष्टाचार पैदा कर रहे हो।

शराबबंदी पर चिराग पासवान बोले अगर शराब बिहार में बंद है तो चुनाव में शराब की तस्करी कैसे हो रही है शराब की बोतले बिहार में कैसे मिल रही है लोग इसका होम डिलीवरी कर रहे हैं मुख्यमंत्री कुछ सब पता है उनके मंत्रिमंडल भी इसमें शामिल है।

चिराग पासवान ने कहा कि मेरे सामने 10 आदमी लाइए जो पहले शराब पीता हूं और अब उसे छोड़ दिया हो ऐसा कोई भी नहीं है जो बिहार में शराब नहीं पी रहा है लोगों के घर में होम डिलीवरी हो रही है और इसकी जितने भी पैसे आ रहे हैं वह सीधे मुख्यमंत्री के पास जा रहा है।

चिराग पासवान ने कहा शराब की बोतल कहां से प्राप्त होगी इस घोटाले का पैसा कहां जा रहा है बिहार के लोग जानना चाहते हैं अगर इसमें मुख्यमंत्री का पद नाम आए तो मुख्यमंत्री को भी जेल में भेजेंगे अगर हमारी सरकार बनती है अधिकारियों को चेक किया जाएगा जो इसमें लिप्त हैं।