सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने कहा है कि ‘मुद्दे वैचारिक थे और उन्हें उठाना जरूरी था.’ राजस्थान (Rajasthan) में सचिन पायलट की बगावत और राज्य सरकार पर मंडराते संकट के बादल छंटने लगे हैं. आज राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से मुलाकात के बाद सचिन पायलट बगावत का रास्ता त्यागकर सुलह के रास्ते पर चल पड़े हैं. 

राजस्थान की राजनीति में सोमवार के घटनाक्रमों से तेज उलटफेर होता दिखा. राजस्थान कांग्रेस के नेता सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका गांधी से मुलाकात की. कांग्रेस ने सचिन पायलट के साथ समझौते की पुष्ट‍ि कर दी है. कांग्रेस का कहना है कि सचिन पायलट की शिकायतों को दूर करने के लिए तीन सदस्यीय कमेटी बनाई गई है. राजस्थान में चल रहे राजनीतिक उथल-पुथल के बीच सचिन पायलट की ओर से कमेटी शिकायत सुनेगी. इस मुलाकात में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) भी मौजूद रहीं. पायलट कैंप सूत्र ने बताया कि राहुल गांधी ने हर शिकायत दूर करने का भरोसा दिया है. यह भी बताया कि अभी और भी मुलाकात होगी.

सोमवार की सुबह से ही राजस्थान में सियासी हलचल तेज है. सूत्रों ने बताया था कि सचिन पायलट और अन्य बागी विधायक कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के साथ मुलाकात करने वाले हैं. 

कहा जा रहा है कि इस मुलाकात में उन कड़वाहटों को मिटाने की कोशिश की जाएगी जिसकी वजह से गहलोत सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे थे. पिछले दिनों एनसीआर में किसी स्थल पर प्रियंका गांधी और सचिन पायलट के बीच मुलाकात हुई थी. जिसके बाद यह तय हो पाया है. प्रियंका और सचिन की मुलाकात के बाद कई स्तरों पर बातचीत भी हो चुकी है.

यह ताजा घटनाक्रम राजस्थान विधानसभा सत्र बुलाए जाने के पांच दिन पहले हुआ है. जहां अशोक गहलोत अपना बहुमत साबित करने का दावा कर रहे हैं. उन्होंने अपने विरोधियों पर बीजेपी के साथ मिलकर सरकार गिराने के प्रयास का आरोप लगाया था. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here