आप सभी तो जानते ही हैं कि पश्चिम बंगाल (West Bengal) ऐसा राज्य है जो कि अधिकांश ही सुर्खियों में बना रहता है! वहां की सरकार पर आए दिन कोई न कोई सवाल उठते ही रहते हैं! हालांकि इन सबके बावजूद भी एक बार फिर से राज्य के अंदर वही पुरानी पार्टी राज्य कर रखी है। भारतीय जनता पार्टी (Bjp) को एक बार फिर से यहां पर हार का सामना करना पड़ गया! और तब से एक बार फिर पश्चिम बंगाल (West Bengal) सुर्खियों में राज्य बना हुआ है!

वहीं आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल पर अक्सर ही अल्पसंख्यक तुष्टीकरण का भी आरोप लगता ही रहा है! तो अब पश्चिम बंगाल पर ताजा आरोप यह है कि पश्चिम बंगाल पुलिस (West Bengal police) मित्र अल्पसंख्यक समाज के ही लोगों को नौकरी दी गई है!

हाल ही में पश्चिम बंगाल की पुलिस में भर्ती हुए लोगों की मेरिट लिस्ट (Marrit List) जारी की गई है जो कि सोशल मीडिया (Social Media) पर भी काफी वायरल हो रही है इस मेरिट लिस्ट में 50 लोगों के नाम हैं जो कि पश्चिम बंगाल पुलिस (West Bengal Police) में सेवा के लिए भर्ती हुए है!

माना जा रहा है कि सोशल मीडिया (Social Media) पर यह लिस्ट अब सुर्खियों का विषय बनी हुई है क्योंकि इस लिस्ट में नजर आ रहे नाम सिर्फ एक ही समुदाय से हैं। वही पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (West Bengal CM Mamata Banerjee) पर ऐसे में मुस्लिम तुष्टीकरण का आरोप लग रहा है!

बता दे कि जब ममता बनर्जी साल 2011 में सत्ता में आई थी तो उन्होंने इमामो को ₹2500 प्रति महीने भत्ता देने का भी ऐलान किया था!