बाबा जी बोले 1 मिनट तक सांस रोके या नाक में सरसों का तेल डाले कोरोना पेट में जाकर मर जाएगा

कोरोनावायरस जिसका दवाई पूरी दुनिया की वैज्ञानिक बनाने में लगी है वही बाबा रामदेव ने कोरोनावायरस को लेक कहना है कि बुजुर्ग आदमी 30 सेकेंड और जवान आदमी 1 मिनट तक अपनी सांस रोके रखें इससे करो ना का पता चल जाएगा तथा नाक में सरसों का तेल डालने से कोरोना वायरस पेट में जाकर मर जाएगा. अब भला आप ही बताइए अगर कोई आदमी 1 मिनट तक सांस रोके रहेगा वह कोरोना से मरे या ना मरे पर सांस ना लेने से वह जरूर मर जाएगा| PIB Fact Check ने कहा है कि सरसों के तेल नाक में लेने से कोरोनावायरस ठीक नहीं होता है| ऐसे लोगों के झांसे में ना आए|

बाबा रामदेव ने कहा कि यदि कोई व्यक्ति 1 मिनट तक अपनी सांस रोक ले तो इसका मतलब है कि उसे कोरोनावायरस नहीं है यह कोरोना के लक्षण और बिना लक्षण वाले दोनों मामलों में कारगर है| बाबा रामदेव ने यह बात आज तक एजेंडा के दौरान कहीं
कोरोनावायरस के लिए स्पेशल प्राणायाम है इसे उज्जाई कहते हैं इसमें गले से संपर्क होता है फिर आवाज के साथ हवा लेते हैं कुछ देर से रोकते हैं फिर धीरे-धीरे सांस छोड़ते हैं|आज तक के Show E-एजेंडा झंडा के दौरान रामदेव ने ऐसा करके दिखाया और कहा कि ऐसा करने से कोरोनावायरस का टेस्ट भी हो जाता है|

उन्होंने आगे कहा जिन्हें क्रॉनिक हाइपरटेंशन दिल की बीमारी डायबिटीज है और जो बुजुर्ग है 30 सेकंड और जवान 1 मिनट तक सांस रोके ऐसा कर लेते हैं तो पता चल जाएगा कि आपको कोरोनावायरस नहीं है फिर चाहे लक्षण हो या ना हो इसके अलावा बाबा जी ने दावा किया कि नाक में सरसों का तेल डालने से कोरोनावायरस पेट में जाकर मर जाएगा उन्होंने आगे कहा इसके साथ आप सरसों का तेल नाक में डाल दे तो पूरी सांस नली में कहीं भी को रोना है तो वह पेट में चला जाएगा और वहां पेट के केमिकल उसे मार देंगे जैसे हैंडवाश सैनिटाइजर और साबुन का घोल को रोना को मारता है वैसे ही पेट के नेचुरल केमिकल को रोना को मार देंगे|उन्होंने लोगों से योग करने की अपील भी की उन्होंने बताया कि शरीर में ऑक्सीजन का कम होना ज्यादातर बीमारियों की मुख्य वजह है दुनिया भर की स्टडी से यह साबित हो चुका है योग करते रहना चाहिए इससे शरीर के अंदरूनी अंग मजबूत होंगे तथा इम्यूनिटी बढ़ेगी जिससे कोरोनावायरस सेे रक्षा होगी|

सांस रोकने से Corona का पता चलने के दावे का विश्व स्वास्थ्य संगठन पहले ही खंडन कर चुका है उसका कहना है दशक एंड या इसे ज्यादा समय तक सांस रोकने से कोरोनावायरस का पता नहीं चलता कोरोना का पता लैब में टेस्ट से ही चलता है|

वही सरसों के तेल से कोरोनावायरस नष्ट होने के बाबा रामदेव का दावा भी झूठ निकला प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो यानी पीआईबी ने इस बारे में 25 मार्च को फेसबुक पोस्ट किया था उसमें कहा गया था कि सरसों के तेल से कोरोनावायरस को नष्ट नहीं किया जा सकता| तो बाबा जी ने जो भी दोनों दावे किए थे उन दावों के झांसे में ना आइए घर में रहिए सुरक्षित रहिए तबीयत खराब होने पर अपने डॉक्टर से संपर्क करिए|

Leave a Comment