महामारी में भी अय्याशी: थाईलैंड से 7 लाख में कॉलगर्ल बुलाने वाला निकला बीजेपी सांसद संजय सेठ का बेटा?

थाईलैंड की एक काॅलगर्ल की लखनऊ में कोरोना से मौत के बाद उत्तर प्रदेश की सियासत गर्मा गई है। काॅलगर्ल को साल लाख में लखनऊ बुलाया गया था। जहां कोरोना संक्रमित होने के बाद उसकी मौत हो गई। मामले में भाजपा सांसद संजय सेठ के बेटे का नाम आने से उत्तर प्रदेश की सियासत में तूफान आ गया है।


दैनिक जागरण की मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक लखनऊ के एक बड़े व्यापारी के बेटे ने थाईलैंड की एक काॅलगर्ल को साल लाख रुपए की डील कर बुलवाया था। उसे हजरतगंज इलाके मेें ठहराया गया था लेकिन जब इस युवती को कोरोना हो गया तो व्यापारी के बेटे ने हाथ खडे कर दिए। इसके बाद युवती को 28 अप्रैल को लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां तीन मई को उसकी मौत हो गई।


युवती की मौत की सूचना थाईलैंड दूतावास को दी गई थी। थाईलैंड दूतावास की अनुमति पर युवती का अंतिम संस्कार कर दिया गया। बड़ी बात यह है कि युवती को किसने बुलाया? वो यहां क्यों आई? और कहां ठहरी? इन सवालों का जवाब देने से पुलिस बचती रही। जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस महकमा प्रदेश के सफेदपोश व्यापारी के बेटे की करतूतों पर पर्दा डालने का प्रयास कर रहा है।


यूपी के समाजवादी पार्टी के नेता आईपी सिंह ने ट्वीट कर भेद खोल दिया है। विदेशी कॉल गर्ल मंगाने वाला अय्याश और कोई नहीं बल्कि लखनऊ के धन पशु संजय सेठ का बेटा है।


इस अय्याश के पिता संजय सेठ की पीएम मोदी के साथ की तस्वीर भी आईपी सिंह ने ट्वीट किया है। साथ ही यूपी पुलिस को चैलेंज किया है कि क्या उसमें इस अय्याश के ख़िलाफ़ कार्रवाई की हिम्मत है।



इस मामले में अब तक आरोपों के घेरे में आए सांसद सांसद संजय सेठ के बेटे की प्रतिक्रिया भी सामने नहीं आई है। वहीं इस मामले को लेकर विपक्ष हमलावर है। वहीं कोरोना काल में थाईलैंड से दिल्ली और फिर लखनऊ पहुँची युवती की स्थानीय स्तर पर कोई जानकारी न होने से कोरोना को लेकर प्रशासन की सक्रियता पर भी सवाल उठने लगे हैं।


लखनऊ : सपा प्रवक्ता ने ट्वीट के ज़रिए लगाया राज्यसभा सांसद सेठ पर गंभीर आरोप। कोरोना काल में भाजपा के राज्यसभा सांसद संजय सेठ के बेटे की अय्याशी में नहीं आई कोई कमी।


राज्यसभा सांसद संजय सेठ के बेटे ने सात लाख रुपर देकर थाईलैंड से बुलाई काल गर्ल।
थाईलैंड से बुलाई गई कॉल गर्ल की कोरोना संक्रमण से हुई थी मौत। लखनऊ कमीशनरेट पुलिस अब खंगाल रही है तार की आख़िर कैसे चल रहा विदेशी काल गर्ल का नेटवर्क।


पुलिस राजस्थान के ट्रैवेल ऐजेंट की तलाश में, लेकिन राजधानी मे अपनी अय्याशी के लिए बुलाने वाले राज्यसभा सांसद संजय सेठ का बेटा अभी भी पुलिस की जद से बाहर।


10 दिन तक काल गर्ल थी लखनऊ में मौजूद, सम्पर्क में आने वाली का पुलिस लगा रही पता। काल गर्ल को लखनऊ बुलाने वाले भाजपा के राज्यसभा सांसद संजय सेठ के बेटे से अभी तक नहीं हुई कोई पूछताछ।

Leave a Comment