Antilia Case: आप सभी को तो ये मालूम ही है कि देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के पास विस्फोटक से भरी स्कॉर्पियो खड़ी करने के मामले में मुम्बई पुलिस के एक अधिकारी सचिन वाजे राष्ट्रीय जांच एजेंसी NIA के गिरफ्त में हैं। NIA लगातार ही मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वाजे से पूछताछ कर रही है और साथ ही इस मामले में कई बड़े खुलासे हो चुके हैं। इतना ही नहीं बल्कि इस मामले की आंच महाराष्ट्र सरकार तक भी जा पहुंची है।

वही अब राष्ट्रीय जांच एजेंसी NIA ने भी इस मामले में खुलासा किया है कि आखिर किसने देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर वो विस्फोटक युक्त स्कॉर्पियो खड़ी की थी। तो आपको बता दें कि NIA ने जानकारी देते हुए ये बताया है कि मुकेश अम्बानी के घर पास जिलेटिन के छड़ों से भरी गाड़ी सचिन वाझे के निजी ड्राइवर ने ही खड़ी की थी। एनआईए NIA ने यह भी बताया है कि स्कॉर्पियो के पीछे जो इनोवा गाड़ी दिखी वो खुद मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वाझे चला रहे थे।

जानकारी के अनुसार , 17 फरवरी 2021 को ही स्कॉर्पियो की कहानी शुरू हो गई थी, जब इसके मालिक मनसुख हिरेन ने गाड़ी को मुंलुंड-एरोली रोड पर पार्क कर दिया था और फिर गाड़ी खराब होने का दावा भी किया था। मनसुख हिरेन ने कहा था कि गाड़ी में कुछ तकनीकी खराबी आ गई है। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार , मनसुख हिरेन ने इसी दिन गाड़ी की चाबियां सिटी पुलिस हेडक्वॉर्टर्स जाकर सचिन वाझे को दे दी थी।

वही इसके अगले दिन ही मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वाझे के निजी ड्राइवर ने वहां से गाड़ी लेकर चलाते हुए मुंबई के ठाणे ले गया। इसके बाद ड्राइवर ने गाड़ी को साकेत हाउसिंग सोसायटी में पार्क किया, जहां पर सचिन वाझे रहता था।

वही एक अधिकारी द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार , ‘सचिन वाझे खुद स्कॉर्पियो के पीछे इनोवा गाड़ी चला रहा था। और फिर एंटीलिया के पास गाड़ी छोड़ने के बाद ड्राइवर भी उसी इनोवा में बैठ गए , जिसे कि सचिन वाजे ड्राइव कर रहा था, उसके बाद दोनों वहां से वापस चले गए। वही यह इनोवा थोड़ी देर में दूसरे नंबर प्लेट के साथ एंटीलिया के पास दिखी। इसके बाद कुर्ता-पायजामा पहने मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वाझे ने ही स्कॉर्पियो के पास जाकर धमकी भरी चिट्ठी भी वहां रखी।’