आपको बता दें कि कोरोना महामारी के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था पर बेहद असर पड़ा है! यही नहीं बल्कि इसके साथ में अमेरिका जैसे बड़े अर्थव्यवस्था वाले देश को भी इस से काफी असर पड़ा है! बता दें कि अमेरिका की अर्थव्यवस्था भारत की अर्थव्यवस्था के मुकाबले 7 गुना अधिक बढ़ी है जो कि 21 ट्रिलियन डॉलर की है!

लेकिन मिल रही जानकारी के मुताबिक दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था पर भी इस समय कर्ज के बोझ में दबा हुआ है! यह कर्ज कोई छोटा मोटा नहीं बल्कि यह कर्ज 29 लाख करोड़ डॉलर का है! जो कि भारत की इकोनामी से 10 गुना ज्यादा है!

इतना ही नहीं बल्कि आपको बता दें कि अमेरिका ने भारत से भी करीब 15 लाख करोड़ का कर्ज लिया! वही साल 2020 में अमेरिका पर नेशनल डेट 23.4 ट्रिलियन डॉलर था! मतलब कि इस हिसाब से हर एक अमेरिकी के ऊपर 52 लाख से भी अधिक का कर्ज था!

वही इस रिपोर्ट के बाद हर अमेरिकी नागरिक पर इस समय करीब ₹600000 से भी अधिक रुपये का कर्ज है! अमेरिकी कांग्रेस अलेक्स मूनी का ये कहना है कि अमेरिका ने सबसे अधिक लोन चीन और जापान से लिया हुआ है जो कि उसका दोस्त भी नहीं है!

बता दे कि ऐसे में अमेरिकी कांग्रेस मुनि का ये कहना है कि अमेरिका के लिए चीन हमेशा से ही कंपटीशन रहा है। अमेरिका ने चीन और जापान दोनों से एक एक ट्रिलियन डॉलर का कर्ज ले के रखा हुआ है!

वही लगातार कर्ज के बढ़ते हुए बोझ को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस मुनि ने 1.9 ट्रिलियन डॉलर के नए राहत पैकेज का भी काफी विरोध किया है! वही अमेरिका पर ब्राजील का भी 258 बिलियन डॉलर का कर्ज है और इसके साथ ही साल 2000 में अमेरिका पर 6 ट्रिलियन डॉलर का कर्ज था जो कि ओबामा शासनकाल में दुगना हो गया!