केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली जा रहे किसानों को रोकने के लिए पुलिस द्वारा किया गया बल प्रयोग से अंबाला-पटियाला बॉर्डर पर किसान उग्र हो गए। इस दौरान पुलिस ने किसानों को रोकने के लिए आंसू गैस के गोले दागे, इसके साथ ही पानी की बौछार और लाठी के बल पर किसानों को तितर-बितर किया।

वहीं पुलिस द्वारा किए गए लाठीचार्ज और पानी की बौछार के बाद किसान और भी उग्र हो गए, आक्रोशित किसानों ने पुलिस के बैरिकेट्स को उखाड़ कर फेंक दिया, और सामने आ रहे पुलिस वालों पर पत्थरबाजी करने लगे। जिसके बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए वाटर कैनन का उपयोग किया।

बता दे कि पुलिस ने हाईवे पर खाली ट्रकों को रोककर किसानों को रोकने की कोशिश की। लेकिन उग्र किसानों ने खाली ट्रकों को खुद ही बीच रोड से हटाने लगे, वहीं पुलिस के बैरिकेट्स को किसानों ने फ्लाईओवर के नीचे फेंक दिया, और कई ट्रॉली आदि को पलट दिया और ट्रकों के शीशे तोड़ दिए।

हालात बिगड़ते देख रैपिड एक्शन फोर्स को बुलाया जाए, जिसके बाद रैपिड एक्शन फोर्स ने किसानों को वहां से खदेड़ा। वही लाउडस्पीकर के माध्यम से किसानों को वापस लौट जाने की अपील की गई लेकिन इसका असर नहीं दिखा। किसान संगठन इसके बावजूद दिल्ली जाने को लेकर अडिग थे।