आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश विधायक मुख्तार अंसारी की तबीयत अचानक से बिगड़ गई है। उनका ब्लड प्रेशर और साथ ही शुगर भी बढ़ा है। इसके अलावा भी उन्हें कई और बीमारियां भी हैं। मऊ से BSP विधायक अंसारी को अप्रैल में पंजाब की रोपड़ जेल से बांदा शिफ्ट किया गया था। तब उनका RT-PCR टेस्ट हुआ तो वह कोरोना पॉजिटिव पाए गए ।

बता दे कि मीडिया रिपोर्ट्स में ये दावा किया जा रहा है कि मुख्तार अंसारी को स्किन एलर्जी भी है। उनके शरीर में लाल दाने निकल रहे हैं। उनकी कमर में भी दर्द है। इसे देखते हुए मुख्तार अंसारी ने कोर्ट में अर्जी देकर बाहर इलाज और साथ ही सभी सुविधाएं देने की मांग की है।

मुख्तार अंसारी के वकील ने कोर्ट में अर्जी देकर कहा है कि मुख्तार अंसारी को इंफेक्शन होने से शरीर पर दाने और साथ ही चकत्ते पड़ रहे हैं। वकील ने मुख्तार अंसारी के लिए मच्छरदानी, कूलर और साथ ही और भी दूसरी सुविधाएं बाहर से मुहैया करवाने की मांग की। वहीं, जेल प्रशासन ने कोर्ट से कहा कि मुख्तार अंसारी के बैरक में ये सभी सुविधाएं पहले से हैं। इसलिए बाहर से इन्हें दिए जाने की जरूरत बिल्कुल भी नहीं है।

इस बीच मंगलवार को अचानक से मुख्तार अंसारी की तबीयत बिगड़ने से जेल प्रशासन के हाथ-पांव फूलने लगे। मुख्तार अंसारी की सेहत और साथ ही इलाज को लेकर अफसर मीटिंग कर रहे हैं। हालांकि, जेल प्रशासन ने इस बारे में अभी कोई भी आधिकारिक बयान जारी नहीं किया है। बांदा जेल अधीक्षक प्रभा कांत पांडेय का कहना है कि फिलहाल अभी मीटिंग चल रही है। इसलिए इस बारे में कुछ स्पष्ट नहीं बताया जा सकता है।

शिफ्टिंग के वक्त मुख्तार अंसारी RT-PCR टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव निकले थे। हालांकि, मुख्तार अंसारी में कोरोना पॉजिटिव के लक्षण नहीं है। डॉक्टरों की निगरानी में उनका इलाज भी चल रहा है। उन्हें जेल की बैरक नंबर-15 (तन्हाई बैरक) में रखा गया है। वही बता दे कि बीते 7 अप्रैल को मुख्तार को रोपड़ से बांदा जेल लाया गया था।