नोटबंदी के 4 साल बाद गुजरात में करोड़ों के पुराने नोट पकड़े गए, कमीशन पर बदलने की थी तैयारी

नोटबंदी को चार साल हो गए, लेकिन पुराने नोट मिल ही रहे हैं. इस बार गुजरात के गोधरा से मिले हैं. 500 और 1000 के पुराने नोट. कुल रक़म 4,76,81,500 यानी लगभग 4.76 करोड़ रुपए. और नोट के साथ दो लोग भी पकड़ाए हैं. दोनों ने बताया कि कमीशन पर इन नोटों को नए नोटों से बदलने की बात हुई थी.


गोधरा का पोलन बाज़ार. यहां पर गुजरात ATS से मिली सूचना के आधार पर गुजरात पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप यानी SOG ने छापा मारा. NDTV में छपी ख़बर के मुताबिक़, सबसे पहले मेड सर्किल के पास छापे में पुलिस ने फ़ारूख छोटा को हिरासत में लिया. फ़ारूख के पास से 1000 के नोट की पांच गड्डियां बरामद की गयीं.


फ़ारूख का इंटैरोगेशन किया गया. पूछताछ में अगले ठिकाने का पता चला. अगला ठिकाना निकला धनत्या प्लॉट. यहां पर इदरीस हयात और उसके बेटे ज़ुबैर हयात का घर है. पुलिस के पहुंचने के पहले इदरीस हयात निकल गया. छापेमारी हुई. कार के पीछे और मकान के भीतर से कई सारे पुराने नोट पकड़े गये. ज़ुबैर हयात को भी हिरासत में ले लिया गया. 


नोटों की संख्या थी ज़्यादा. इसलिए गिनने के लिए मशीन का उपयोग करना पड़ा. पुलिस ने जानकारी दी है कि 1000 के 9,312 नोट मिले, यानी लगभग 93 लाख रुपए. और 500 के 76,739 नोट. लगभग 3.83 करोड़ रुपए. पूछताछ में पकड़े गए आरोपियों ने ये बात स्वीकार की है कि इन नोंटों को 25-35 फ़ीसद कमीशन पर बदलने की तैयारी थी. लेकिन बदलने का माध्यम कौन था, इस बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिल सकी है.

Leave a Comment