आपको बता दें कि देश में कोरोना महामारी के बढ़ते हुए मामलों के बीच बचाव को लेकर दी जा रही चेतावनी को अनदेखा करना भारी पड़ती जा रही है. थोड़ी से लापरवाही कितनी ज्यादा भारी पड़ रही है इसका उदाहरण आप बस इसी से लगा सकते हैं कि एक शादी में शामिल हुए 87 मेहमान एक साथ कोरोना पॉजिटिव हो गये हैं.


तेलंगाना का है ये पूरा मामला

कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते मामलों के बीच चेतावनी की अनदेखी कितनी भारी पड़ सकती है इसका बड़ा उदाहरण तेलंगाना में देखे को मिली है. बता दे कि तेलगांना के एक गांव में हुई एक शादी के बाद कोरोना विस्फोट हो गया है. सूबे के निज़ामाबाद जिले में हनमजीपेट गांव में हुई शादी में शामिल हुए एक साथ 87 मेहमान सोमवार को कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं. आशंका ये भी जतायी जा रही है कि ये सख्या अभी औऱ बढ़ेगी.

सरकारी अधिकारियों ने ये बताया है कि इस शादी में लगभग 370 लोग शामिल हुए थे. शादी के बाद अब कुछ मेहमानों में कोरोना संक्रमण के लक्ष्ण देखने को मिले. लिहाजा प्रशासन ने ये तय किया है कि सभी मेहमानों का कोरोना टेस्ट कराया जाये. जांच में एक साथ 87 लोग कोरोना पॉजिटिव पाये गये.

बता दे कि शादी वाले गांव में खुल गया आइसोलेशन सेंटर एक ही जगह इतनी अधिक संख्या में लोगों के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद प्रशासन में हड़कंप है. फिलहाल सभी पॉजिटिव पाये गये लोगों को आइसोलेशन में रहने के लिए कहा गया है. प्रशासन ने गांव में ही एक आइसोलेशन सेंटर बना दिया है. जो कि अपने घरों में आइसोलेशन में नहीं रह सकते उन्हें इस सेंटर में रखा जा रहा है. राज्य सरकार ने वहां पर मेडिकल टीम भी भेजी है जो ये पता लगा रहे हैं कि पॉजिटिव पाये गये लोग किनके संपर्क में आये थे. इसके साथ ही उनकी भी जांच की जा रही है.

प्रशासन के लिए सबसे ज्यादा परेशानी की बात ये है कि इस शादी में सिर्फ उसी गांव के लोग शामिल नहीं हुए थे बल्कि उसमे पड़ोस के भी दूसरे गांव के लोग भी गए थे . पड़ोस के गांव सिद्धापुर के भी कई लोगों कोरोना पॉजिटिव पाया गया है. इनमें से कई लोगों को तो निज़ामाबाद के सरकारी जनरल अस्पताल में भी भर्ती कराया गया है. बता दे कि स्वास्थ्य अधिकारियों ने सिद्दापुर गांव में भी कोविड कैंप शुरू किया है.