पटना: 50 वर्षीय विधवा महिला के साथ 8 लड़कों ने बारी-बारी किया बलात्कार, वीडियो बना किया वायरल

लिफ्ट देकर महिला को बाइक पर बैठाया
पीड़िता पटना में दाई का काम करती है। काम करके वह पटना से अपने गांव जा रही थी। गांव पहुंचने से पहले गौरीचक क्षेत्र के रास्ते में उसे बाइक पर सवार दो युवक मिले। युवकों ने पूछा कहां जाना है। महिला ने अपने गांव का पता बताया। इस पर दोनों युवकों ने उसे गांव तक छोड़ देने की बात कही और महिला को बाइक पर बैठा लिया। बाद में दोनों युवक उसे पुनपुन बांध की ओर सुनसान जगह स्थित एक झोपड़ी में ले गये। यहीं पर छह युवक और आ गये। इसके बाद महिला के सभी कपड़े उतारकर आठों आरोपितों ने बारी-बारी से गैंगरेप किया। महिला आरोपितों के सामने गिड़गिड़ाती रही लेकिन दरिंदों को उसपर तरस नहीं आयी। वायरल वीडियो में आरोपितों द्वारा महिला को शराब पिलाने की भी कोशिश की गई। यह बात वीडियो में सुनाई भी दे रही है।

एक बेहद ही शर्मनाक घटना हुई है. हैवानों ने 50 साल की एक महिला के साथ बेहद ही घिनौनी करतूत को अंजाम दिया है. महिला के साथ गैंग रेप की वारदात को अंजाम दिया गया है. मानवता को शर्मसार कर देने वाले बदमाशों ने गैंग रेप करने के साथ ही इसका वीडियो भी बना डाला है. इस गंदी करतूत की वीडियो हर जगह वायरल हो गई. घटना 15 से 20 दिन पुरानी है. लेकिन वायरल हुए वीडियो की वजह से शुक्रवार को मामला सामने आया है.

वीडियो वायरल होने के दो घंटे बाद हरकत में आयी पुलिस मामले की जांच में जुट गई। पीड़िता को चिह्नित कर उसका बयान दर्ज कर आरोपितों की गिरफ्तारी में पुलिस छापेमारी कर रही है। देर रात मामले की जांच के सिलसिले में एसएसपी उपेंद्र शर्मा भी गौरीचक थाने पहुंचे।

घटना को पटना में गौरीचक थाना के तहत अंजाम दिया गया है. इस मामले के सामने आने में बाद से पटना पुलिस में हड़कंप मच गया है. पुलिस की टीम ने वीडियो के आधार पर पीड़ित महिला की तलाश की. खोजबीन के बाद पीड़ित महिला मिली भी. देर शाम को उसे गौरीचक थाना लाया गया. फिर उसके साथ हुए घटना की पूरी जानकारी ली गई. पीड़ित महिला का बयान दर्ज किया गया.

22 से 24 वर्ष के हैं सभी आरोपित 
वायरल वीडियो व मामले की छानबीन में पुलिस को पता चला है कि सभी आरोपित महज 22 से 24 साल के हैं। सूत्रों की मानें तो पीड़िता ने पुलिस को बताया है कि दरिंदगी करने वाले सभी आरोपित शराब के नशे में थे। विरोध करने पर वे जान से मारने की धमकी भी दे रहे थे। धमकी के डर से वह बदहवाश हाल में किसी तरह अपने घर चली गई। गौरीचक के प्रभारी आरके मंडल ने बताया कि वायरल वीडियो की जांच की जा रही है। आरोपितों की तलाश में फहीमपुर गांव में छापेमारी की जा रही है। मामले की जांच के बाद जल्द ही आरोपित पकड़े जाएंगे। 

विधवा से गैंगरेप का वायरल वीडियो सामने आया है। वायरल वीडियो की जांच कर हकीकत का पता लगाया जा रहा है। एसएसपी समेत क्षेत्र के आला पुलिस अधिकारी मामले की जांच में जुटे हैं। जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी। 
– संजय सिंह, आईजी रेंज

डर से महिला नहीं आ रही थी सामने, रात के वक्त हुई पहचान 
इस घटना के बाद महिला पुलिस के सामने नहीं आ रही थी। वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने देर रात महिला की पहचान की। इसके बाद उसकी निशानदेही पर विनय कुमार नाम के शख्स से पूछताछ की गई। उसने इस घटना में शामिल अन्य युवकों के बारे में जानकारी दी। पुलिस ने एक-एक कर छह को गिरफ्तार कर लिया। वहीं सातवां युवक अब तक फरार है। छापेमारी की भनक लगते ही वह भाग निकला। 

विधवा महिला को अगवा कर गैंगरेप करने वाले सात आरोपितों को पटना पुलिस की विशेष टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। सभी आरोपित गौरीचक थानांतर्गत नयाचक फहीमपुर के रहने वाले हैं। पकड़े गए आरोपितों में दीना कुमार, विकास कुमार, रौशन कुमार, सन्नी कुमार, पिंटू कुमार और मुकेश कुमार शामिल हैं। 


पुलिस ने इनके पास से वीडियो वायरल करने वाला एक मोबाइल भी बरामद किया है। एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने शनिवार को बताया कि गैंगरेप की यह घटना करीब एक महीने पहले सोमवार की रोज गौरीचक थानांतर्गत लंका कछुआरा गांव के समीप एक बांध के निकट स्थित खंडहरनुमा भवन में हुई थी। 45 वर्षीय  महिला ने पुलिस को बताया कि कुछ लोग उसे जबरन धमकी देकर अपने साथ वहां ले गए और दुष्कर्म किया। इसी दौरान युवकों ने महिला का वीडियो बनाकर उसे वायरल कर दिया। शुक्रवार की शाम यह वीडियो वायरल हुआ, जिसके बाद पुलिस को पूरे मामले की जानकारी मिली। इस ऑपरेशन में एसपी सिटी पूर्वी जितेंद्र कुमार, जक्कनपुर थानेदार मुकेश कुमार वर्मा के साथ स्पेशल सेल के जवानों को लगाया गया था।

पूरे मामले पर एक नजर 
बीते शुक्रवार को एक अधेड़ उम्र की महिला के साथ गैंगरेप होने का वीडियो वायरल हुआ। रात आठ बजे वीडियो पटना के एसएसपी को मिला। इसके बाद पुलिस ने छानबीन शुरू की। एसएसपी ने पूरे मसौढ़ी अनुमंडल की पुलिस को महिला व आरोपितों की पहचान करने का जिम्मा सौंपा। इसी बीच महिला की पहचान हुई और पुलिस ने उससे पूरी घटना की जानकारी ली। महिला आरोपितों को पूर्व से जानती थी। पुलिस ने सभी के घर में छापेमारी कर छह को गिरफ्तार कर लिया।


स्पीडी ट्रायल करायेगी पुलिस
गैंगरेप के मामले में पुलिस स्पीडी ट्रायल करायेगी। महिला पुलिस अफसर की मौजूदगी में पीड़िता का बयान दर्ज किया गया है। रेंज आईजी संजय कुमार सिंह ने बताया कि इस मामले को बेहद गंभीरता से लिया गया था। आरोपितों से पूछताछ की गई है। अन्य फरार अभियुक्त को भी जल्द ही पुलिस गिरफ्तार कर लेगी। 


60 दिन में पूरा करें अनुसंधान 
गौरीचक में विधवा से हुए गैंग रेप के मामले का अनुसंधान तय समय 60 दिन में हरहाल में पूरा करना होगा। इसके लिए आईजी रेंज संजय सिंह ने आईओ को कड़े निर्देश दिये हैं। आईजी ने बताया कि गैंग रेप, पॉक्सो एक्ट तथा एससीएसटी एक्ट के मामलों की जांच 60 दिन में पूरी करने का प्रावधान है। ऐसे में गैंग रेप के इस मामले की जांच में किसी तरह की लापरवाही न बरती जाए, इसके लिए केस की मॉनिटरिंग व समय-समय पर जांच की समीक्षा भी की जाएगी। 

Leave a Comment