सरदार बल्लभ भाई पटेल के प्रतिमा स्टेचू ऑफ यूनिटी के टिकट बिक्री से जमा रुपयों में घोटाला का मामला सामने आया है। दरअसल एचडीएफसी बैंक की बड़ोदरा शाखा के मैनेजर ने पैसा जमा करने वाली एजेंसी के कुछ कर्मचारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराई है, जिसमें आरोप लगाया है कि नवंबर 2018 से मार्च 2020 के बीच 5.24 करोड़ रूपए जमा नहीं किए।

इस मामले में पुलिस उपाधीक्षक वाणी दूधत ने बताया कि स्टेचू ऑफ यूनिटी के नाम से एक बैंक में दो खाते हैं। वही सरदार पटेल की मूर्ति को देखने आने वाले दर्शकों से टिकट वसूली का काम एक एजेंसी को दिया गया था। जिसमें पता चला कि एजेंसी के कुछ कर्मचारियों ने नवंबर 2018 से मार्च 2020 के बीच 5.24 करोड़ रुपए जमा नहीं कराए।

बता दे कि इस मामले का खुलासा तब हुआ जब स्टेचू ऑफ यूनिटी के अधिकारियों ने जब इसकी ऑडिट कराई तो जमा पर्ची और खाते में जमा राशि में अंतर पाया गया जिसके बाद अधिकारियों ने इसकी जानकारी बैंक को दी। वही बैंक ने जांच किया तो पता चला कि एजेंसी ने बैंक में पैसे जमा ही नहीं किया।

जिसके बाद बैंक प्रबंधन ने केवड़िया पुलिस थाने में पैसे जमा करने वाली एजेंसी के साथ-साथ कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ भी एफआईआर कराई है। इस मामले में पुलिस ने धारा 420 (धोखाधड़ी), 406 (विश्वास भंग) और धारा 120बी (अपराधिक साजिश) के तहत मुकदमा दर्ज किया। हालांकि इस मामले में अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।