जम्मू-कश्मीर में अमित शाह की अध्यक्षता में 2 हाई लेवल मीटिंग हुई,NSA डोभाल भी हुए शामिल, हो सकता है कुछ बड़ा

Jammu and Kashmir High Level Meeting :आपको बता दें कि शनिवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) की अध्यक्षता में जम्मू-कश्मीर (Kashmir news) को लेकर 2 उच्च स्तरीय बैठके हुई हैं! वही इस बैठक में जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा (Manoj Sinha) भी शामिल हुए थे ! वही दूसरी बैठक में शामिल होने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (Ajit Doval) और साथ ही जम्मू कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह (Dilbag Singh) भी गृह मंत्रालय पहुंचे!

वही पिछले कुछ दिनों से जम्मू कश्मीर को लेकर हलचल लगातार ही बढ़ती देखी जा रही थी! गृह मंत्री की अध्यक्षता में हुई बैठक में भाग लेने के लिए वह आज दोपहर को दिल्ली पहुंचे हैं! इस मीटिंग में जम्मू कश्मीर के अंदर हुए विकास के कार्यों को लेकर भी चर्चा होने वाली है! गृह मंत्री अमित शाह ने कश्मीर में 76% टीकाकरण होने पर उपराज्यपाल को इस बात की बधाई भी दी हैं और साथ ही अधिकारियों को यह निर्देशित किया है कि कश्मीर के सभी लोगों के सर्वांगीण कल्याण के लिए मोदी सरकार की योजनाएं जन जन तक पहुंचाई जाए!

वही, देश के गृहमंत्री अमित शाह का यह भी कहना है कि जम्मू-कश्मीर में सभी शरणार्थीयो को शरणार्थी योजनाओं का लाभ मिले और साथ ही केंद्र शासित प्रदेश में कृषि आधारित उद्योगों की स्थापना भी हो जिससे वहां के सभी लोगों को पर्याप्त रोजगार भी मिल सके!बता दे कि इसके अलावा न्यूज़ एजेंसी एनआईए के हवाले से यह भी खबर मिल रही है कि गृहमंत्री अमित शाह की अध्यक्षता वाली दूसरी हाई लेवल की मीटिंग में शामिल होने के लिए एनएसए अजीत डोभाल और साथ ही अन्य उच्च अधिकारी भी केंद्रीय गृह मंत्रालय पहुंचे!

वही हो रही इस मीटिंग में शामिल होने डोभाल के अलावा भी जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह, गृह सचिव अजय भल्ला, इंटेलिजेंस ब्यूरो के डायरेक्टर अरविन्द कुमार, रॉ के चीफ समंत कुमार गोयल और साथ ही सीआरपीएफ के डायरेक्टर जनरल कुलदीप सिंह भी गृह मंत्रालय पहुँचे हैं!

हालांकि आपको बता खबर लिखे जाने तक अभी तक इस बात की जानकारी नहीं मिल सकी थी कि यह हाई लेवल में मीटिंग अखिर किस लिए बुलाई गई? लेकिन ये अंदाजा लगाया जा रहा है कि इस मीटिंग में आने वाले समय में अमरनाथ यात्रा आरंभ करने की तैयारियां या फिर जम्मू कश्मीर की वर्तमान सुरक्षा व्यवस्थाओं और साथ ही जम्मू कश्मीर में ही नई प्रोजेक्ट के सिलसिले में चर्चा हो सकती है!

Leave a Comment